उपसर्ग -प्रत्यय (Upsarg Aur Pratyay)

वर्णो के सार्थक समूह को शब्द कहते हैं |

व्युत्पत्ति के आधार पर शब्दों के तीन भेद है|

1. रूढ़

2. यौगिक

3. योगरूढ़

नोट : मूलतः शब्द के दो ही भेद है | रूढ़ और यौगिक, यौगिक और योगरूढ़ सामान होते है|

यौगिक शब्दों की रचना तीन प्रकार से होती है : उपसर्ग, प्रत्यय एवं समास

yogik shabd

उपसर्ग

उपसर्ग दो शब्दों से मिलकर बना है उप + सर्ग, उप का अर्थ है समीप और सर्ग का अर्थ है सृष्टि करना अर्थात किसी शब्द के समीप आकर नया शब्द बनाना |

जो शब्दांश शब्दों आदि में जुड़ कर उनके अर्थ में कुछ विशेषता लाते है, उपसर्ग कहलाते है |

उदाहरण

हार शब्द का अर्थ पराजय होता है परन्तु हार से पहले प्र जोड़ देने पर प्रहार बन जाता है जिसका अर्थ है चोट करना |

इसी प्रकार हार से पूर्व में आ जोड़ देने पर आहार बन जाता है जिसका अर्थ पूरी तरह से बदल जाता है |

हिंदी में प्रचालित उपसर्गो को पांच भागो में विभाजित किया जा सकता है |

1. संस्कृत के उपसर्ग : संस्कृत के उपसर्गो की संख्या २२ है

2. हिंदी के उपसर्ग : हिंदी के उपसर्गो की संख्या १३ है

3. उर्दू और फारसी के उपसर्ग :
इनकी संख्या १९ है |

4. अंग्रेजी के उपसर्ग

5. उपसर्ग के समान प्रयुक्त होने वाले संस्कृत के अवयव |

प्रत्यय

प्रत्यय दो शब्दों से मिलकर बना है प्रति + अय, प्रति का अर्थ होता है साथ या पीछे अय का अर्थ है चलने वाला |

जो शब्दांश शब्दों के अंत में जुड़कर उनके अर्थ में विशेषता या परिवर्तन ला दे प्रत्यय कहलाता है |

उदाहरण

दया शब्द में आलू जोड़ने से दयालु बनता है | दयालु एक विशेषण है जबकि आलू प्रत्यय है | |

ध्यान दें

प्रत्ययों का अपना अर्थ कुछ भी नहीं होता है न ही इनका प्रयोग स्वतंत्र रूप से किया जाता है |

प्रत्यय के दो भेद होते है |

1. कृत྄྄ प्रत्यय :

2. तद्धित प्रत्यय

1. कृत प्रत्यय

वे प्रत्यय जो क्रिया के मूल रूप यानि धातु (root word) में जोड़े जाते है कृत྄྄ प्रत्यय कहलाते है | कृत प्रत्यय से बने शब्द कृदन्त शब्द कहलाते है |

उदाहरण

लिख྄྄྄ + अक = लेखक | यहाँ अक कृत྄྄ प्रत्यय है तथा लेखक कृदन्त शब्द है|

2. तद्धित प्रत्यय

वे प्रत्यय जो क्रिया के मूल रूप यानि धातु को छोड़ कर अन्य शब्दों – संज्ञा, सर्वनाम, विशेषण व अवयव – में जुड़ते है, तद्धित प्रत्यय कहलाते है| तद्धित प्रत्यय कहलाते है| तद्धित प्रत्यय से बने शब्द तद्धितांत शब्द कहलाते है|

उदाहरण

सेठानी = सेठ + आनी यहाँ आनी तद्धित प्रत्यय है तथा सेठानी तद्धितांत शब्द है |