तत्सम तदभव

Buy Lucent Best हिन्दी व्याकरण

हिंदी शब्दों के वर्गीकरण के चार आधार है|

१. उत्पति /स्रोत /इतिहास

२. व्युत्पत्ति /रचना /बनावट

३. रूप /प्रयोग /व्याकरणिक विवेचन

४. अर्थ

Buy Lucent Best हिन्दी व्याकरण

 

१. उत्पति /स्रोत /इतिहास के आधार पर 

उत्पति /स्रोत /इतिहास के आधार पर शब्द पांच प्रकार के होते है |

तत्सम

तत्सम शब्द संस्कृत भाषा के दो शब्दों तत् + सम् से मिलकर बना है|

तत्सम का अर्थ है – उसके समान। अर्थात – ज्यों का त्यों।

हिन्दी में अनेको शब्द संस्कृत से सीधे आये है और आज भी उसी रूप में प्रयोग किये जा रहे है| जिन शब्दों को संस्कृत से बिना किसी परिवर्तन के ले लिया जाता है, उन्हें तत्सम शब्द कहते हैं।

जैसे – अग्नि, आम्र, वायु, माता, पिता, अमूल्य, चंद्र, क्षेत्र, अज्ञान, अन्धकार आदि।

Buy Lucent Best हिन्दी व्याकरण

तत्भव

तत्भव का शाब्दिक अर्थ है – उससे बने (तत् + भव = उससे उत्पन्न), अर्थात जो संस्कृत शब्दों से उत्पन्न हुए हैं। यहाँ पर तत् शब्द भी संस्कृत भाषा की ओर इंगित करता है। अर्थात जो संस्कृत से ही बने हैं। इन शब्दों की यात्रा संस्कृत से आरंभ होकर पालि, प्राकृत, अपभ्रंश भाषाओं के पड़ाव से होकर गुजरी है और आज तक चल रही है।

जैसे –

मुख से मुँह
ग्राम से गाँव
दुग्ध से दूध
भ्रातृ से भाई आदि।

तत्सम तदभव

Buy Lucent Best हिन्दी व्याकरण

 

https://eclassmate.in/alankar-hindi-vyakaran/