Sandhi

Buy Lucent Hindi Grammar

संधि : हिन्दी व्याकरण

दो समीपवर्ती वर्णो के मेल से जो परिवर्तन होता है, संधि कहलाता है | संधि में पहले शब्द का अंतिम वर्ण और दूसरे शब्द के आदि वर्ण का मेल होता है |

उदाहरण :

देव + आलय = देवालय

जगत྄ + नाथ = जगन्नाथ

मनः + योग = मनोयोग

संधि के नियमों द्वारा मिले वर्णो को पुनः मूल अवस्था में ले आने को संधि-विच्छेद कहते हैं |

उदाहरण :

परीक्षार्थी = परीक्षा + अर्थी

वागीश = वाक྄྄ + ईश

अंतःकरण = अंतः + करण

Buy Lucent Hindi Grammar

संधि के प्रकार

संधि के पहले वर्ण के आधार पर संधि के तीन भेद हैं |

स्वर संधि

व्यंजन संधि

विसर्ग संधि

स्वर संधि

दो स्वरों के मेल से जो परिवर्तन उत्पन्न होता है स्वर संधि कहलाता है |

उदाहरण :

सूर्य + अस्त = सूर्यास्त : अ + अ = स्वर + स्वर

महा + आत्मा = महात्मा : आ + आ = स्वर + स्वर

स्वर संधि के पाँच भेद होते है |

दीर्घ संधि

गुण संधि

वृद्धि संधि

यण संधि

अयादि संधि

Buy Lucent Hindi Grammar

दीर्घ संधि

हृस्वा या दीर्घ ‘अ ‘, ‘इ’, ‘उ’, के पश྄྄चात क्रमशः हृस्वा या दीर्घ स्वर आये तो दोनों को मिलकर दीर्घ ‘आ’, ‘ई’, ‘ऊ’ हो जाते है |

उदाहरण : अ + अ = आ

धर्म + अर्थ = धर्मार्थ : अ + अ = आ

स्व + अर्थी = स्वार्थी : अ + अ = आ

देव + अर्चन = देवार्चन : अ + अ = आ

धर्म + अर्थ = धर्मार्थ : अ + अ = आ

उदाहरण : अ + आ = आ

देव + आलय = देवालय : अ + आ = आ

सत्य + आग्रह = सत्याग्रह : अ + आ = आ

नव + आगत = नवागत : अ + आ = आ

देव + आगमन = देवगमन : अ + आ = आ

उदाहरण : आ + अ = आ

परीक्षा + अर्थी = परीक्षार्थी : आ + अ = आ

सीमा + अंत = सीमांत : आ + अ = आ

रेखा + अंश = रेखांश : आ + अ = आ

दिशा + अंतर = दिशांतर : आ + अ = आ

उदाहरण : आ + आ = आ

महा + आत्मा = महात्मा : आ + आ = आ

विद्या + आलय = विद्यालय : आ + आ = आ

वार्ता + आलाप = वार्तालाप : आ + आ = आ

महा + आनंद = महानंद : आ + आ = आ

उपसर्ग -प्रत्यय

उदाहरण : आ + आ = आ

महा + आत्मा = महात्मा : आ + आ = आ

विद्या + आलय = विद्यालय : आ + आ = आ

वार्ता + आलाप = वार्तालाप : आ + आ = आ

महा + आनंद = महानंद : आ + आ = आ

उदाहरण : इ + इ = ई

इ + इ = ई

उदाहरण : इ + ई = ई

इ + ई = ई

गुण संधि

वृद्धि संधि

यण संधि

अयादि संधि

Buy Lucent Hindi Grammar